Header Ads

ब्राजील को 7-1 से धोकर जर्मनी फीफा विश्वकप के फाइनल में

बेलो होरिजोंटे :  फीफा विश्वकप में मंगलवार को हुए पहले सेमीफाइनल मुकाबले में जर्मनी के तूफान के आगे मेजबान ब्राजील ढेर हो गया। जर्मनी ने 5 बार की चैंपियन ब्राजील को 7-1 की करारी शिकस्त देकर फाइनल में प्रवेश किया। इस तरह जर्मनी फीफा के फाइनल में रेकॉर्ड 8 बार एंट्री करने वाली टीम बन गई है। इस जीत के साथ ही जर्मनी ने 2002 में ब्राजील के हाथों मिली 2-0 की हार का बदला भी ले लिया, जो मंगलवार को हुए मैच के पहले तक विश्वकप में इन टीमों के बीच का अब तक का इकलौता मुकाबला था। वर्ल्डकप के पहले सेमीफाइनल मैच में मेजबान ब्राजील की टीम अपने प्रमुख स्ट्राइकर नेमार के बगैर मैदान में उतरी। नेमार क्वॉर्टर फाइनल में कोलंबिया के खिलाफ खेलते हुए मैच खत्म होने से बस 4 मिनट पहले रीढ़ की हड्डी में चोट के कारण विश्वकप से बाहर हो गए थे। 

दूसरे सेमीफाइनल में 10 जुलाई को अर्जेंटीना का मुकाबला नीदरलैंड्स से होगा। सेमीफाइनल मैच का पहला हाफ खत्म होने तक पलड़ा जर्मनी टीम की तरफ काफी हद तक झुक चुका था। पहले हाफ में जर्मनी ने गोलों की बारिश करते हुए फुटबॉल विश्वकप के पहले सेमीफाइनल मुकाबले में ब्राजील पर शुरुआती 40 मिनट का खेल खत्म होने तक 5-0 से बढ़त बना ली थी। जर्मनी के स्ट्राइकर थॉमस मुलर ने 11वें मिनट में गोल दागकर टीम को 1-0 से बढ़त दिलाई। 23वें मिनट में मियरोस्लाव क्लोसे ने गोल करके बढ़त 2-0 की कर दी। मिडफील्डर थोनी क्रोस ने 24वें और 26वें मिनट में लगातार 2 गोल दागकर ब्राजील के खेमे में खलबली मचा दी। इसके बाद पांचवां गोल समी खेदियरा ने 29वें मिनट में किया। मैच के दूसरे हाफ में 10 मिनट के अंतराल पर 69वें और 79वें मिनट में दोनों गोल आंद्रे शरले ने किये। 

जर्मनी के 7 गोलों के जवाब में ब्राजील के ऑस्कर ने मैच के आखिरी मिनट में एक गोल किया, लेकिन तब तक ब्राजील को इंटरनैशनल मैचों में अपनी अब तक की सबसे करारी हार मिल चुकी थी। इस हार के साथ ही मेजबान टीम का फीफा 2014 विश्वकप में सफर समाप्त हो गया। ब्राजील के फैंस अपनी टीम को अपने ही घर में मिली इतनी बुरी हार नहीं पचा पा रहे थे, और उन्होंने वहीं मैदान पर ही रोना शुरू कर दिया था। बिना कोई जवाब दिए 5 गोल झेलने वाली इस टीम को देखकर रहा था मानो फुटबॉल का मास्टर ब्राजील खुद फुटबॉल खेलना भूल चुका हो। इस जीत के साथ जर्मनी के स्ट्राइकर मियरोस्लाव क्लोसे ने 2 रेकॉर्ड भी अपने नाम किया। ब्राजील के सुपरस्टार रोनाल्डो (15 गोल) को पछाड़ते हुए वह सेमीफाइनल में 1 गोल करने के बाद विश्वकप के इतिहास में सबसे ज्यादा (16) गोल दागने वाले खिलाड़ी बन गए हैं। साथ ही वह विश्वकप इतिहास में 4 सेमीफाइनल खेलने वाले पहले खिलाड़ी भी बन गए हैं। 

Powered by Blogger.