Header Ads

आलोचकों ने बेहतर प्रदर्शन के लिए प्रेरित किया: सुनील छेत्री

बेंगलूर: बेंगलुरू फुटबाल क्लब को अपने पदार्पण सत्र में ही आई लीग का खिताब दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले कप्तान सुनील छेत्री ने कहा कि लोगों की इस आलोचना ने उन्हें बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया कि वह क्लबों के लिए अच्छा खेल नहीं दिखाते। छेत्री ने कहा कि जब भी लोग यह कहते हैं कि मैं देश के लिए अच्छा खेलता हूं लेकिन क्लब के लिए नहीं, तब मेरी अच्छा प्रदर्शन करने की भूख बढ़ जाती। उन्होंने कहा कि यह मायने नहीं रखता कि लोग क्या कहते हैं। मैं केवल मैदान पर अपनी सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहता हूं। मैं गोल करूं या नहीं करूं इसमें कोई बदलाव नहीं होगा। मुख्य कोच एश्ले वेस्टवुड ने कहा कि उन्होंने इंग्लैंड की तुलना में यहां अभ्यास सत्र में किसी तरह का बदलाव नहीं किया। उन्होंने कहा कि हमने किसी तरह से अलग करने की कोशिश नहीं की। हम बिना किसी व्यवस्था के यहां आए थे और खिलाड़ियों ने इसे तेजी से अपनाया। हमारी सफलता का यह बहुत बड़ा कारण है। वेस्टवुड ने कहा कि निश्चित तौर पर कोई लीग जीतना आसान नहीं होता। इसलिए इस राह में काफी मुश्किलें भी आईं। एक सवाल के जवाब में वेस्टवुड ने कहा कि उनका सबसे कड़ा प्रतिद्वंद्वी ईस्ट बंगाल था।
Powered by Blogger.